राज्य

“हर-हर महादेव” का रहस्य व विशेष पूजा विधि

जानकारी जंक्शन, अध्यात्मिक सम्पादक,
“बाबा-भागलपुर”

भगवान शिव ‘हर’ नाम से भी पूज्यनीय है। श्रद्धालु/भक्तगण शिव जी की पूजा के समय हर-हर महादेव बोलते हैं। इसके पीछे क्या रहस्य है? इस सम्बन्ध में कहना है कि “हर-हर महादेव” के पीछे धार्मिक आस्था से यही भाव है कि शिव भक्त की पुकार पर उसकी सभी कष्ट व पीड़ाओं को हर यानी हरण कर लेते हैं। पौराणिक प्रसंग भी उजागर करते हैं कि चाहे वह समुद्र मंथन से निकले हलाहल यानी विष को पीने का प्रसंग हो या स्वर्ग से उतरी देव नदी गंगा के वेग को थामने के लिए उसे अपनी जटाओं में स्थान देने का प्रसंग, शिव ने संसार के संकटों को कल्याण भाव से हर लिया। यही कारण है कि सांसारिक जीवन में हर परेशानियों से मुक्ति या कामनासिद्धि के लिए हर यानी शिव का ध्यान बहुत ही मंगलकारी माना जाता है। शिव उपासना की विशेष वेला में सोमवार का दिन अत्यंत ही शुभ है। सोमवार की मंगल वेला में अगर निम्नांकित सरल मंत्र से शिवलिंग की कुछ विशेष पूजा भी करें तो यह पीड़ा व कष्टों से जल्द निजात दिलाने वाला उपाय माना गया है। जानते हैं विशेष शिव मंत्र, जिसमें शिव की अद्भुत महिमा व स्वरूप की वंदना है:- सोमवार को स्नान के बाद स्वच्छ व सफेद वस्त्र पहनकर शांत मन से शिवालय या घर पर स्फटिक या धातु से बनी शिवलिंग को खासतौर पर शांति की कामना से दूध, शुद्ध और जल से स्नान कराएं। शिव को सफेद चंदन, वस्त्र, अक्षत, बिल्वपत्र, सफेद आंकड़े के फूल व श्रीफल यानी नारियल पंचाक्षरी मंत्र “ऊँ नम: शिवाय” बोलते हुए चढाएं व पूजा के बाद नीचे लिखे शिव का श्रद्धा से स्मरण या जप करें:- शिवो गुरु: शिवो देव: शिवो बन्धु: शरीरिणाम्। शिव आत्मा शिवो जीव: शिवादन्यन्न किञ्चन।।
इसमें शिव की महिमा है कि शिव से अलग कुछ भी नहीं है, यानी शिव ही गुरु है, शिव देव हैं, शिव सभी प्राणियों के बन्धु हैं, शिव ही आत्मा है और शिव ही जीव हैं।
इस मंत्र स्मरण व पूजा के बाद दूध की मिठाई का भोग लगाकर शिव की धूप, दीप तथा आरती कर्पूर से करें। प्रसाद ग्रहण कर सुकून भरे जीवन की कामना से सिर पर शिव को अर्पित सफेद चंदन लगाएं और हर-हर महादेव पुकारे। इससे समस्त कष्टों का हरण होता है। यही भी एक रहस्य ज्ञान है “हर-हर महादेव”।

गुरु कृपा केवलम्।

जय माँ जय माँ जय जय माँ।

हo/-
(दैवज्ञ पंo आरo केo चौधरी)
“बाबा-भागलपुर”
भविष्यवेत्ता एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ
संस्थापक
ज्योतिष योग शोध केन्द्र, बिहार।
मोबाईल नo:- 09430815864/
09835070591

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *