राजनीति

बन्जकांचन विकास पार्टी की ओर से समाहरणालय परिसर स्थित निर्धारित धरना स्थल पर बाढ़ एवं सुखाड़ के स्थायी निदान हेतु एकदिवसीय सत्याग्रह (धरना) दिया गया।

मुज़फ्फरपुर में बन्जकांचन विकास पार्टी के तत्वावन में समाहरणालय परिसर स्थित निर्धारित धरना स्थल पर बचाव एवं सुखाड़ के स्थायी निदान हेतु एकदितमय सत्याग्रह (धरना) का आयोजित किया गया। इस अवमा पा तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त महोदय की ग्यारह मुत्री म्यार-पत्र सौंपा गया। मौके पर संबोधित करते हुए प के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेद्र राकेश ने कहा कि आज बन्जांचल (उत्तर बिहाम) एक साथ बाढ़ एवं सुखाड़ के मार से वंलि अना(भा है। पाठ एवं मुशार बज्जिकांचल (उत्तर बिहार का अभिशाप है। बाढ़ एवं मुखाइ की इस ख-मिचौली के क्षेत्र में


यहां के लोग विदशता का बोधन जौने को मजबूर बने हुए रहते है 1 दु:खद प्रेमी यह है कि बाढ़ एवं मुखाई में हमें बचाने का आज तक की सरकार ने उचित कदम नहीं उठाये । सरकारी स्तर पर पढ़ एवं मुखार के नाम पर राहत पहुंचाने का भरसक प्रयास कर अपने कर्तव्यों को इनश्री समझ तो जातो हो हैं।आज आवश्यकता म बात की है कि इस समस्या के निदान के लिए ईमानदार प्रयास किये जाये।समर्पित रापन में यज्जिकचन (उत्तर बिहार) में बाढ़ का कारण बरसात नहीं, नेपाल की नरियों के पानी के बहाव घताते हुए मके स्थायी निदान के लिए डैम का निर्माण कराये जाने तथा उससे निजी उत्पादन करने को ५ माँ के म
में सिंचाई कसे की मांग की गयी है, अरबों की नाव में बने बरमां-बरम में बन नही परियोजनाओं को पूनविन करने, नदिया
समय-समय पर गाद निकालने, ना को पक्कीकरण करने, नदियों में नदियों को जोड़ने, मनरंग कार्यक्रम के तहन सूखे पह
गोखरों को गहरा काने, नये-नये पांखर चुदवाने, चर यौना एवं मन को संगति कर जन जमा होने योग्य विकग्नित करने, अंगों
की कटाई बंद का अधिक में अधिक वृक्षारोपण करने की मांग को गयो है। साथ ही भाई-भतीया, पा-आति के विभेद से ऊपर
उठकर पारदर्शी ढंग में बात पहिला को शन्न राहत पहुंचाने की मांग की गयी है ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *