झारखण्ड राज्य

छत गिरने से महुआडांड स्थित जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय परिसर स्थित छात्रावास का रिपेयरिंग का कार्य कर रहे राज मिस्त्री की हुई मौत। मृतकों का परिजनों का रो रो तंत्रकर बुरा हाल

ठीकेदार के द्वारा मानक सुरक्षा उपायों की की गई अनदेखी। लगभग डेढ़ करोड़ रुपये की लागत से मरम्मती का कार्य किया जा रहा है।

सभी छात्रावास भवन की स्थिति अत्यंत ही जर्जर, मरम्मती लायक नही, मरम्मती कराने से पहले उनकी राय तक नही ली गई, कभी भी छात्रावास हो सकतें हैं ध्वस्त, पुराने भवन को ध्वस्त कर नये भवन का हो निर्माण : गिरिजा राम, प्राचार्य जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय महुआडांड।
लातेहार जिला के
महुआडांड

मिस्त्री का कार्य करने आज ही आया था।
महुआडांड स्थित जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय परिसर स्थित छात्रावास का रिपेयरिंग का कार्य कर रहे राज मिस्त्री की मौत छत गिरने से हुई। घटना लगभग शाम सवा चार बजे की है। मृतक महुआडांड थाना क्षेत्र स्थित ग्राम कुम्हार टोली हामी के रहने वाले ठीभु कुम्हार पिता गंगा कुम्हार उम्र 35 वर्ष है। कार्य करा रहे मुंशी मो. कौशर ने बताया कि घटना के ही दिन पहली बार मृतक ठीभु कुम्हार कार्य करने आया हुआ था। घटना लगभग शाम सवा चार बजे के करीब घटी। एक और अन्य राज मिस्त्री के साथ मरम्मती का कार्य कर रहे मृतक राज मिस्त्री ठीभु कुम्हार छत का प्लास्टर का कार्य कर रहे था अचानक उसी समय छत भर-भराकर गिर पड़ा जिससे दबकर ठीभु कुम्हार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। वहीं उसके साथ कार्य कर रहे अन्य मजदूरों को चोट तक नही आयी। बाद में मृतक को महुआडांड सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जंहा चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिंह ने जांच उपरांत मृत घोषित कर दिया। वहीं सूचना मिलने के साथ ही महुआडांड थाना प्रभारी महेन्द्र करमाली के नेतृत्व में महुआडांड थाना पुलिस बल घटना स्थल पर पहुंची व शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल लातेहार भेज दिया। वहीं घटना उपरांत मृतक के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। वहीं घटना के संबंध में विद्यालय के प्राचार्य गिरिजा राम ने बताया कि लगभग डेढ़ करोड़ रुपये की लागत से जनजाति आवासीय उच्च विद्यालय महुआडांड परिसर स्थित छात्रावासों का मरम्मती कार्य रांची के ठीकेदार विनोद कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना के द्वारा कराया जा रहा है। उक्त सभी छात्रावास भवन की स्थिति अत्यंत ही जर्जर स्थिति में है, जो कि मरम्मती लायक नही है, मरम्मती कराने से पूर्व उनकी राय तक नही नही ली गई, कैंपस में जितने भी भवन हैं वो काफी पुराने हैं, वो कभी भी ध्वस्त हो सकती है। विद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के साथ भी कोई अनहोनी घटना घटित हो सकती है। प्राचार्य गिरिजा राम ने कहा कि घटना की जानकारी उनके द्वारा उच्च पदाधिकारियों को देकर कार्य बंद करने का निर्देश ठीकेदार के मुंशी को दे दी गई है। अधिकारियों के निर्देश मिलने के बाद ही आगे कोई कार्रवाई की जाएगी। इस सबके बावजूद कार्य कर रहे मजदूरों के लिए ठीकेदार के द्वारा कोई भी मानक सुरक्षा के उपाय नही किया गया था। जो जांच का विषय है। रिपोर्ट कैमरा मैन राहुल कुमार के साथ बद्री गुप्ता लातेहार ब्यूरो की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *