मध्यप्रदेश राज्य

खाली खजाने के बाद भी प्रदेश में लिखी विकास की इबारत

शाजापुर से राकेश कुमार यादवरिपोर्ट

  • जिलाध्यक्ष ने प्रेसवार्ता में गिनाई कांग्रेस की प्रदेश सरकार की उपलब्धियां
    फोटो – प्रेसवार्ता में उपस्थित पार्टी पदाधिकारी।
    श्रद्धासुमन अर्पित करते कांग्रेसी।
    शाजापुर। पिछले 15 सालों से भाजपा ने प्रदेश में सत्ता तो चलाई, लेकिन पूरे खजाने को खाली कर दिया। न रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए और न ही किसानों के हक के लिए कुछ किया। आत्महत्या के लिए मजबूर किसानों के लिए भाजपा ने केवल ख्याली पुलाव ही पकाए हैँ जिसकी वास्तविकता सभी के सामने है। लेकिन प्रदेश में कमलनाथ सरकार ने महज 8 माह के कार्यकाल में विकास की नई इबारत लिखी है, जिसके सार्थक परिणाम जल्द ही सबके सामने होंगे।
    यह बात कांग्रेस जिलाध्यक्ष योगेंद्रसिंह बंटी बना एवं प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सिद्धार्थ महूरकर ने बुधवार को एबी रोड स्थित रेस्ट हाऊस पर आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जब कमलनाथ जी ने पद्भार ग्रहण किया था तब प्रदेश आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा था, लेकिन दृढ़ इच्छा शक्ति का परिचय देते हुए महज दो घंटे के अंदर किसानों के कर्जमाफी के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कर किसानों को राहत दी थी और प्रदेश सरकार की आगामी दिनों में भी किसानों के हित में कई योजनाएं हैं। उन्होंने कहा कि किसानो के अलावा प्रदेश सरकार ने पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण को 27 प्रतिशत तक बढ़ाया तो सामान्य वर्ग का भी ध्यान रखते हुए उन्हें भी 10 प्रतिशत आरक्षण मुहैया कराया है, ताकि इस वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोग भी विकास से अछूते नहीें रहे। वहीं प्रदेश सरकार ने राइट टू वाटर जैसे बुनियादी और ठोस कदम उठाकर जनता को लाभान्वित करने की सोच के साथ ही नदी पुर्नजीवन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के 36 जिलों की चालीस नदियों का चयन कर 21 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में सघन रूप से जल संरक्षण एवं जल संवर्द्धन का काम शुरु किया गया है। ग्रामीण बसाहटों में 3 हजार से भी अधिक नए हैंडपंप लगाकर पेयजल की व्यवस्था को सुदृढ़ करने का प्रयास किया गया है। इसके साथ ही कुपोषण, शिशु मृत्युदर को कम करने में भी प्रदेश सरकार ने ठोस कदम उठाए हैं तो मिलावटखोरों के खिलाफ भी कमलनाथ सरकार कहर बनकर टूट पड़ी है जो नागरिकों के प्रति उनकी चिंता का जीवंत प्रमाण है। इस अवसर पर विधायक प्रतिनिधि आशुतोष शर्मा, याकूब खान सचिन पाटीदार, आईटीसेल प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव दुबे, आईटी सेल जिलाध्यक्ष देवकरण गुर्जर, हाजी मुन्ना पठान, विजेंद्र पाटीदार, सोहेल खान, राजेश शर्मा, जैनेंद्र नागर आदि उपस्थित थे। यह जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता पं. गोविंद शर्मा ने दी।
    इन ड्रीम प्रोजेक्ट पर भी काम कर रही प्रदेश सरकार
    जिलाध्यक्ष बंटी बना ने कहा कि प्रदेश में भोपाल-इंदौर सिक्स लेन विश्व स्तरीय एक्सप्रेस-वे, जो कमलनाथ सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट भी है। जिसे इस तरह निर्मित किया जाएगा जिसके किनारे इंटरनेशनल एयरपोर्ट, इंडस्ट्रियल टाउनशिप के अलावा सैटेलाइट टाउन भी विकसित होंगे। इससे न केवल बड़े पैमाने पर आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी बल्कि बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। इंदौर क्षेत्र में भी कमलनाथ सरकार के प्रयासों से मात्र 8 माह में ही 94 कंपनियों ने उद्योग शुरु करने के लिए आवेदन दिए हैं। इन उद्योगों में प्रस्तावित निवेश की कीमत 27 हजार करोड़ रुपए है। खास बात यह है कि इन उद्योगों में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता के आधार पर रोजगार दिया जाएगा ताकि प्रदेश का हर क्षेत्र समृद्ध हो सके और विकास की इस धारा से जुड़ सके। विकास की नई इबारत लिख रही प्रदेश सरकार के प्रोजेक्ट में इंडिया सीमेंट्स, वंडर सीमेंट, प्रॉक्टर एंड गैंबल, श्रीराम पिस्टन आदि बड़े उद्योगों को निवेश प्रोत्साहन की स्वीकृति भी दी गई है जिससे हजारों करोडृों रुपयों के निवेश के साथ ही प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रुप से रोजगारों का सृजन होगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में केवल उन्हीं उद्योगों को निवेश प्रोत्साहन और सब्सिडी की छूट मिलेगी जो स्थानीय युवाओं को सत्तर प्रतिशत रोजगार देंगे।
    कम समय में हासिल की उपलब्धि, योजनाएं बंद नहीं शुरु हो रही…
    जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के 8 माह नहीं बल्कि वास्तविकता में इससे भी कम समय मिला है और इस कम समय में भी इतनी उपलब्धियां किसी भी सरकार के लिहाज से बेहतर प्रदर्शन ही माना जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार से हिसाब वो लोग मांग रहे हैं जो 15 वर्षों के कार्यकाल के बाद भी प्रदेश को बीमारु से विकसित राज्य में तब्दिल नहीं कर पाए और ढिंढोरा विकास का पिटते रहे। हकीकत यह थी कि प्रदेश विकास की दौड़ में केवल बिहार और झारखंड से ही आगे था और देश विकसित राजयों की सूची में भी 27वे क्रम पर था। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम सहित भाजपा के अन्य पुरोधा, यह कभी नहीं बताते कि हमारे प्रदेश डेढ़ दशक तक महिला अत्याचारों, किसान आत्महत्याओं, बेरोजगारी और कुपोषण में लगातार अव्वल क्यों बना रहा। वे यह भी नहीं बता पाते क्योंकि इस प्रदेश में उद्योग ही नहीं लग पाए। आरोप यह भी लगाए गए कि कांगे्रस भाजपा की योजनाओं को बंद कर रही है बल्कि वास्तविकता में प्रदेश में जो योजनाएं केवल नाम की चल रही थी उन्हें अमलीजामा पहनाने का काम कांग्रेस की प्रदेश सरकार कर रही है। जिसका लाभ भी वास्तविक हितग्राहियों को मिल रहा है।
    धार्मिक व पर्यटन स्थलों के विकास भी सरकार की प्राथमिकता
    प्रेसवार्ता में प्रदेश प्रवक्ता सिद्धार्थ महुरकर ने बताया कि पर्यटन और धार्मिक स्थल भी प्रदेश सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। उन्होंने कहा कि विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर के विकास के लिए भी 300 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। महेश्वर में पर्यटन बढ़ाने के लिए विशेष प्रयास शुरु किए गए हैं। अपने वचन-पत्र में दिए गए वचनों को कमलनाथ सरकार जिस शिद्दत से पूरा करने मेें जुटी है वह अन्य सरकारों के लि भी अनुकरणीय उदाहरण है।
    वरिष्ठ कांगे्रसी को अर्पित किए श्रद्धासुमन
    जिला कांग्रेस के नेतृत्व में आयोजित प्रेसवार्ता के बाद वरिष्ठ कांग्रेसी व प्रदेश शासन के पूर्व मंत्री महेंद्रसिंह कालूखेड़ा की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने कहा श्री कालूखेड़ा हम सभी के लिए प्रेरणा के स्त्रोत रहे हैं और उन्होंने पार्टी के हित में कई कार्य किए हैं। पार्टी के हर पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहे
    ०००००००००

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *